Posts

Showing posts from August, 2017

देश में गठित हो समान नागरिक आचारसंहिता :

Image
समस्त मतिदान पीड़ित मतिहीन हिन्दुस्तानी जनता को चाहिये स्वच्छ हिन्दुस्तानी समान नागरिक आचारसंहिता :
हिन्दुस्तान के समस्त मतिदान पीड़ित मतिहीन जनता को अपने हिन्दुस्तान के राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ परिवार के आदि परम्परागत स्वंयसेवी हिन्दू सर्वोच्च मुख्य न्यायाधीश के द्वारा अपने प्रधानमंत्री से अपने हिन्दुस्तानी स्वंय सहायक संघ परिवार के आदि परम्परागत स्वंय सहायक हिन्दु सर्वोच्च मुख्य सहायक न्यायाधीश चाहिये जो दोनों लोग मिलकर स्वच्छ हिन्दुस्तानी समान नागरिक आचार संहिता का गठन कर समस्त मतिदान पीड़ित मतिहीन हिन्दुस्तानियों को पुन: मतिवान बना सके जिससे कि सभी हिन्दुस्तानियों को अपने समान अधिकार व कर्तव्य प्राप्त हो सकें | यह कार्य बिना नेक व एक ईश्वरीय सहायक हिन्दुस्तान के सर्वोच्च मुख्य सहायक न्यायाधीश के, हिन्दुस्तान के सर्वोच्च मुख्य न्यायाधीश के द्वारा अकेले सम्भव नही है | क्योंकि बिना निराकार जीवात्मा स्वरूप सशक्तिवान मात्रशक्ति के आदि परम्परागत नेक व एक ईश्वरीय सहायक हिन्दुस्तान को सर्वोच्च मुख्य सहायक न्यायाधीश के सबूत के, साकार परमपिता परमात्मा स्वरूप सशक्तिवान पित्रशक्ति के आदि परम्…

बेरोजगारी का दंष दिलो-ओ-दिमाग में मचाये हड़कम्प

Image
सक्रिय हों देश के सभी जिला रोजगार कार्यालय -
...................................


दोस्तों बहुत बुरा लगता है यह सुनकर कि एम.एस.सी पास लड़की बेरोजगारी और शोषण के कारण घर में बैठी सिलाई करके अपना परिवार का पेट पाल रही | एम.बी.ए किये बेरोजगार गांव में मिस्त्री बनकर दिन का पांच सौ कमा रहे हैं और बीएड बेरोजगार जिन्हें समय पर जॉब ना मिल पाने के कारण और ओवर ऐज हो जाने के कारण ईट -भट्टे पर धूप में लेवरी करने पर विवश हैं कि मंहगाई इतनी ज्यादा है तो क्या करें गरीब का सारा पैसा पढाई और ट्यूशन - कोचिंग में गया और दुर्भाग्यवश नौकरी भी नही मिली तो पेट और परिवार के लिये जो दिख रहा वो कर रहा बेरोजगार | आज विश्व में वैश्विक रिपोर्ट यूएन के मुताबिक, विश्व में कुल 20 करोड़ बेरोजगार युवा हैं और भारत में देश की कुल आबादी के लगभग 11 फीसदी यानि 12 करोड़ बेरोजगार हैं जोकि दिन-रात नौकरियां ढूंढ़ने में व्यस्त हैं | भारत में 15-59 आयु वर्ग के मात्र 21.2 फीसदी लोग ही हैं जो वेतन पर काम करते हैं | जबकि श्रम मंत्रालय की श्रम ब्यूरो द्वारा जारी ताजा सर्वेक्षण रिपोर्ट के आंकड़े यह बताते हैं कि बीते वित्त वर्ष में राष्…

प्रिंट मीडिया के इतिहास में पहली बार ' एक कड़वे सत्य ' का करारा साक्षात्कार :

Image
यह सिर्फ साक्षात्कार नही बल्कि युवा युग के आमंत्रण का आगाज़ है |


'रूद्र प्रताप सिंह'
"ब्लॉग" इतिहास में पहली बार "कड़वे सत्य का साक्षात्कार" यानि 'देश के युवा बेरोजगार' का साक्षात्कार  : दोस्तों ! आप सभी ने यह अनुभव किया होगा कि आजतक देश की किसी भी नामी - गिरामी मैग्जीन और बड़े न्यूज पेपर में हमेशा जानी-मानी शख्शियतों के ही इंटरव्यू प्रकाशित होते रहे हैं जिनसे युवाओं ने आगें बढ़ने की प्रेरणा ली और फिर मेहनत भी की पर देश की खराब नीतियों के परिणामस्वरूप आज देश का 12 करोड़ युवा बेरोजगारी का दंश झेल रहा है और सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि इनमें पढ़े-लिखे युवाओं की संख्या सबसे अधिक है और बेरोजगारों में 25 % 20 - 24 आयुवर्ग के हैं, जबकि 25 - 29 वर्ष की उम्र वाले युवकों की संख्या 17 % है | 20 वर्ष से ज्यादा उम्र के 14.30 करोड़ युवाओं को नौकरी के लिये सिर पीट रहें हैं | इस साल बेरोजगारी दर 3.8 % होने का अनुमान व्यक्त किया गया है, जो पिछले साल 3.7% थी | सच्चाई जान कर भी सभी सत्ताशीन मौन हैं और किसी को उसकी परवाह नही है | जब वोट का समय आता है तो हम बेरोजगार य…

विश्व हिन्दी रचनाकार मंच द्वारा प्राप्त सम्मान पत्र....

Image
विश्व हिन्दी रचनाकार मंच के संचालक आदरणीय  राघवेन्द्र जी और विश्व हिन्दी मंच के सभी सहयोगियों का सहृदय आभार |
बहुत-बहुत धन्यवाद  🙏आत्मिक आभार🙏



कविता : पित्रस्नेह पर कविता "पिताजी"

Image
पिताजी
............

आँखों में आँसू दिखते ना
माथे पर ना सिकन दिखे होठों पर मुस्कॉन सजे ना नाक पर गुस्सा घूमा करता चेहरे पर सख्ती दिखती पर दिल में प्यार बसा करता बनावट से नही जिनका रिश्ता हाँ रिश्तों में गहरा वो रिश्ता वो हस्ती नही मामूली कोई दुनिया ने नही समझा जिसको वो आमंत्रण के आगाज़ हैं परिश्रम के वो आधार हैं  परिवार के पालनहार हैं भगवान का दूसरा नाम हैं  कोई और नही वो हमारे संरक्षक   "पिता" महान हैं  जिनसे हमारी "नाम" और "पहिचान" है | आदरणीय "पिताजी"  आपको ससम्मान  प्रणाम है |



आकांक्षा सक्सेना ब्लॉगर 'समाज और हम'

पित्रस्नेह : "पिता" साक्षात् परमात्मा

Image
अद्धितीय है पिता का स्नेह ................................

आँखों में आँसू दिखते ना
माथे पर ना सिकन दिखे होठों पर मुस्कॉन सजे ना नाक पर गुस्सा घूमा करता चेहरे पर सख्ती दिखती पर दिल में प्यार बसा करता बनावट से नही जिनका रिश्ता हाँ रिश्तों में गहरा वो रिश्ता वो हस्ती नही मामूली कोई दुनिया ने नही समझा जिसको वो आमंत्रण के आगाज़ हैं परिश्रम के वो आधार हैं  परिवार के पालनहार हैं भगवान का दूसरा नाम हैं  कोई और नही वो हमारे संरक्षक   "पिता" महान हैं  जिनसे हमारी "नाम" और "पहिचान" है | आदरणीय "पिताजी"  आपको ससम्मान  प्रणाम है |

दोस्तों ! आपने देखा भी होगा सुना भी होगा कि "माँ" पर बहुत लिखा गया है और लिखा भी क्यों ना जाये वो होती ही है इतनी प्यारी कि जिसकी किसी से भी तुलना असम्भव है | माँ हमारी शक्ति होती है कि जिसके पास बैठने से हर दर्द हल्का हो जाता है | उनका स्पर्श कोई संजीवनी बूटी से कम नही है पर माँ की  भी संजीवनी बूटी है जिसे "पिता जी" कहते हैं | पिता जी का स्नेह पूरे परिवार पर होता है पर दिखता नही क्योंकि उन्हें दर्शाना ही नही  …

बढ़ रहा है शॉर्ट फिल्मों का क्रेज :

Image
भारतीय शॉर्ट फिल्मों का सफल कारवां  :
            "समय की मांग है शॉर्ट फिल्में" ..........................................
दोस्तों ! हमारे भारत वर्ष और देश- दुनिया का सफल नाटक, चलचित्र और अथक परिश्रम के परिणामस्वरूप स्थापित हुये सुनहरे जगमगाते 'भारतीय सिनेमा कला जगत' का पूरे सवा सौ वर्ष पुराना महानतम् प्रतिभाशाली और अत्यन्त गौरवशाली इतिहास है | आज उसका चरम सीमा तक विस्तार हो चुका है जिसमें 3डी फिल्मों, नवीन टेक्नोलॉजी पर आधारित ऐक्शन फिल्में, जबरजस्त ऐनीमेशन फिल्में बन रहीं है | हम कह सकते हैं कि आज भी 'सिनेमा' मनोरंजन का पहला लोकप्रिय साधन बना हुआ है | इस क्षेत्र में बेरोजगार प्रतिभावान युवाओं को रोजगार पाने और अपने स्वप्नों को साकार करने की अपार क्षमता और अनंत सम्भावनायें हैं | इस क्षेत्र में कलाकार अपनी प्रतिभा और मेहनत के बल पर अन्तराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहिचान बना सकता है और अपना मन चाहा मुकाम पा सकता है |             इस कल्पना की खूबसूरत सुनहरी दुनिया 'सिनेमा' के इतिहास में साथियों ! विश्व की पहली फिल्म 'अरायव्हल ऑफ द ट्रैन' थी | हमारे…

Blog article in Newspaper/ Blog wallpapers / Shabd Image

Image
http://www.padtal.com/news/news_detail/unemployment-in-india




http://www.shrijainkalyan.com/Pages/SingleDetails.aspx?ID=4224

http://www.kvjpr.com/Pages/SingleDetails.aspx?ID=106